रविवार, 10 जुलाई 2016

जयपुर छोड़ कर

 कविता 
-----------
जयपुर  छोड़  कर 
----------------------
जब  नहीं   बचा 
इलाहाबाद   में  इलाहाबाद  
लखनऊ     में   लखनऊ 
भोपाल       में   भोपाल 
पटना         में    पटना 
दिल्ली        में    दिल्ली 

तो    क्यों    जाऊं   मैं 
जयपुर   छोड़    कर  
किसी   और   शहर  में 

क्या    सिर्फ   यही   कहने 
अब    जयपुर   में   भी 
नहीं      बचा     जयपुर 
(  मेरे   काव्य  -  संग्रह   "  बची   हुई   हंसी  "  में   संकलित )